Cyber ​​hacking has started attacking the sovereignty of the country if China is not successful against India – चौपाल: साइबर खतरा


सीमा पर भारत के खिलाफ सफलता नहीं मिलने पर चीन ने अब भारत पर ‘साइबर हमला’ करना शुरू कर दिया है। हाल ही में भारतीय साइबर दुनिया में चीनी हैकरों के द्वारा चालीस हजार से ज्यादा बार हमला करने की कोशिश की गई। इनमें से ज्यादातर हमले चीन के चेंगडु क्षेत्र से किए गए हैं। चेंगडु सिंचुवान क्षेत्र की राजधानी है और इसी में चीनी सेना की साइबर सेना का मुख्यालय है।

इंटरनेट के इस युग में एक ही जगह पर बैठ कर इंटरनेट के जरिए मनुष्य की पहुंच विश्व के हर कोने तक आसान हुई है। आज के समय में हर वह चीज, जिसके विषय में इंसान सोच सकता है, उस तक उसकी पहुंच इंटरनेट के माध्यम से हो सकती है, जैसे कि सोशल नेटवर्किंग, आनलाइन खरीदारी, डेटा इकट्ठा करना, गेमिंग, आनलाइन अध्ययन, आनलाइन नौकरी आदि। लेकिन इंटरनेट की पहुंच आसान होने के साथ साइबर अपराध भी कई गुना बढ़ गया है।

आज के समय साइबर अपराध हर देश के सामने एक बड़ी चुनौती है। इस चुनौती से निपटने के लिए सभी देशों की सरकार को अपनी साइबर-व्यवस्था को दुरुस्त करना अति आवश्यक है।

दुनिया में भारत इंटरनेट का तीसरा सबसे बड़ा उपयोगकर्ता है और हाल के वर्षों में साइबर अपराध कई गुना बढ़ गए हैं। साइबर सुरक्षा उपलब्ध कराने के लिए सरकार की ओर से कई कदम उठाए गए हैं। कैशलेस अर्थव्यवस्था को अपनाने की दिशा में बढ़ने के कारण भारत में साइबर सुरक्षा सुनिश्चित करना बहुत आवश्यक है। डिजिटल भारत कार्यक्रम की सफलता काफी हद तक साइबर सुरक्षा पर निर्भर करेगी।

इसलिए भारत को इस क्षेत्र में तीव्र गति से कार्य करना होगा। दूसरी ओर, सोशल मीडिया ने अभिव्यक्ति की स्वतंत्रता के अधिकार को नया आयाम दिया है। आज हर व्यक्ति बिना किसी डर के सोशल मीडिया के माध्यम से अपने विचार रख सकता है और उसे हजारों लोगों तक पहुंचा सकता है, लेकिन सोशल मीडिया का सावधानीपूर्वक उपयोग ही हमें आनलाइन ठगी तथा साइबर अपराध के गंभीर खतरों से बचा सकता है। भारत की ओर से चीनी ऐप पर पाबंदी की घोषणा को इस संदर्भ में भी देखा जा सकता है।

’गौतम एसआर, भोपाल
किसी भी मुद्दे या लेख पर अपनी राय हमें भेजें। हमारा पता है : ए-8, सेक्टर-7, नोएडा 201301, जिला : गौतमबुद्धनगर, उत्तर प्रदेश
आप चाहें तो अपनी बात ईमेल के जरिए भी हम तक पहुंचा सकते हैं। आइडी है : chaupal.jansatta@expressindia.com 

Hindi News के लिए हमारे साथ फेसबुक, ट्विटर, लिंक्डइन, टेलीग्राम पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App। में रुचि है तो




सबसे ज्‍यादा पढ़ी गई


This article was written by kk

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *