Kumar Vishwas slams AAP government for asked rs 5000 crore from centre to pay salaries to its employees – दिल्‍ली को मौत का कुुुुुआं बना दिया- अरविंंद केजरीवाल पर कुमार विश्‍वास ने साधा निशाना, समर्थकों ने भी निकाली भड़ास


कोरोना वायरस के रोजाना बढ़ते मामलों के बीच दिल्ली की सरकार के सामने अब अपने कर्मचारियों को वेतन देने का संकट उत्पन्न हो गया है। उपमुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया (Manish Sisodia) ने जहां प्रेस कॉन्फ्रेंस कर इस बारे में जानकारी दी वहीं दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने ट्वीट कर केंद्र सरकार से निवेदन करते हुए कहा कि आपदा की इस घड़ी में आप दिल्ली के लोगों की मदद करें। दिल्ली सरकार के केन्द्र सरकार से पैसों को लेकर मदद मांगने पर ‘आम आदमी पार्टी’ के बगावती नेता और मशहूर कवि कुमार विश्वास (Kumar Vishwas) ने ट्वीट कर दिल्ली सरकार पर निशाना साधा है। वहीं कुमार विश्वास के समर्थक भी दिल्ली के मुख्यमंत्री पर अपनी भड़ास निकाल रहे हैं।

कुमार विश्वास ने ट्वीट कर कहा, ‘लाखों करोंड़ की चुनावी-रेवड़ियाँ, टैक्सपेयर्स के हज़ारों करोड़ अख़बारों में 4-4 पेज के विज्ञापन व चैनलों पर हर 10 मिनट में थोबड़ा दिखाने पर खर्च करके, पूरी दिल्ली को मौत का कुआँ बनाकर अब स्वराज-शिरोमणि कह रहे हैं कि कोरोना से लड रहे डॉक्टरों को सैलरी देने के लिए उनके पास पैसा नहीं हैं।’ कुमार विश्वास के इस ट्वीट पर यूजर्स जमकर रिएक्ट कर रहे हैं।

बता दें कि दिल्ली के उपमुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया ने पैसों की कमी के बारे में बोलते हुए कहा, ‘अपने कर्मचारियों को केवल वेतन देने और ऑफिस के खर्च वहन करने के लिए 3500 करोड़ रुपये हर महीने की जरूरत है। दिल्ली के रेवेन्यू पर काफी असर पड़ा है। पिछले दो महीने में 500-500 करोड़ रुपये जीएसटी से आए हैं। अन्य स्रोतों से हुई आमदनी को भी जोड़ दें, तो कुल 1735 करोड़ रुपये का राजस्व आया है।’

मनीष सिसोदिया ने आगे कहा, ‘ दिल्ली सरकार का टैक्स कलेक्शन करीब 85 फीसदी नीचे चल रहा है। हम अपने कर्मचारियों को वेतन कैसे दें इस बात को लेकर चिंताा है। हमें लगभग 5000 करोड़ रुपये की जरूरत है। वित्त मंत्री को पत्र लिखकर यह सहायता राशि तत्काल उपलब्ध कराने की मांग की है, जिससे दिल्ली सरकार अपने डॉक्टरों और अन्य कर्मचारियों को वेतन दे सके।

Hindi News के लिए हमारे साथ फेसबुक, ट्विटर, लिंक्डइन, टेलीग्राम पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App। में रुचि है तो



सबसे ज्‍यादा पढ़ी गई


This article was written by kk

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *